Duplicate Lock Keys तालों की चाबियाँ

बठिंडा में जब भी मोटर साइकिल स्कूटर (या घर आदि की) चाबी खो जाए, जा डूप्लकैट चाबी बनवाने की जरूरत महसूस हो, तो पहले की पीढ़ी सुभाष मार्केट में ‘द की मैकर’ या ‘keys king’/'king of keys’के पास जाती थी। और आज की पीढ़ी गांधी मार्केट। लेकिन।

लेकिन मैं आपको बताना चाहूँगा की चाहे गांधी मार्केट में देखने में यूँ लगता है की कई चाबी वाले बैठे हैं/मिलते हैं, लेकिन ये उनकी मार्केट स्ट्रैटिजी है। वो सभी एक ही परिवार के हैं। बल्कि पिता पुत्र हैं। और उनमें से जो यंगर हैं, उनकी क्वालिटी बहुत ही घटिया है। हमारे खुद के मोटर साइकिल में यूँ चाबी लगाई गई की उसके नए लॉक की ऐसी तैसी हो गई।

उसके बाद, मैंने पता किया की जो Keys King, या The Key Makers थे, वो सुभाष मार्केट के बाद अब कहाँ पर चले गए!! तो मैंने पाया की वो किले के पास चले गए। मैंने उनसे संपर्क किया। और वो मेरे घर के मैन गेट की चाबी बना कर गए।

दोस्तों, यह तो हो सकता है की गांधी मार्केट वाले 100-150 लेते, और उन्होंने 150-200 लिए घर आकार बनाने में। लेकिन उनकी बनी चाबी और अरिजनल चाबी में 10% का भी फरक नहीं था। और पास खड़े हुए मुझे यूँ सोच कर दिल भी नहीं दुख रहा था की ताले के साथ जान कर धक्का कर रहे हैं। ताले को तो पता भी नहीं चला होगा की उसमें डूप्लकैट चाबी का एक्सपेरिमेंट किया गया है।

सही है। सस्ता रोए बार बार, महंगा रोए एक बार।

उनका नाम और नंबर: Paramjeet Singh, Gurnaam Singh (Both brothers): 9988016836. 9217997651

#Keymaker
#DuplicateKeys
#KingOfKeys

1 Like