बठिंडा सिटी में enter करने का रास्ता ही पता नहीं चलता।

जब Goniana या Malout साइड से बठिंडा में enter होते हैं, सरहिंद canal के पास।

तब एक मुख्य सड़क तो लोगों को बरनाला रोड साइड ले जाती है, बड़े हाई वे प़र।

लेकिन जिसने सिटी में आना होता है, उसको भी बेचारे को पता नहीं चलता और ट्रैफिक के साथ ही, मुख्य रोड पर रहते हुए सिटी से बाहर की तरफ़ बरनाला रोड की पहुँच जाता है और फ़िर वहाँ से सिटी के लिए उसको वापिस होना पड़ता है।


इसकी बजाय यदि नहर के पास एक sign बोर्ड लगाने की किसी ने जरूरत समझी हो कि भाई सिटी में जाने के लिए, आपको rose गार्डन के पास से पुल के नीचे से निकलना सही रहेगा और उसके लिए आपको नहर के पास बाएँ तरफ़ वाली सड़क पकडनी होगी तो वो कितना उचित होता। लेकिन कहाँ! सब बस फंड खाने के लिए ही तो बैठे हैं।

1 Like

Bahut confusion hoti thi pehle… Ab to hamein aadat ho gayi… Lekin jo koi pehli baar goniana side sa Bathinda aya hai… Wo galti se Barnala Bypass hi nikal jata hai…

1 Like

और करना क्य़ा है?!बस एक sign बोर्ड, छोटा या बड़ा!

1 Like

Signboard to laga hai… But thoda peeche hone ke karan confusion rehti hai… Agar ek chota sa signboard turning point ke paas lag jaaye to confusion bahut hadd tak clear ho sakti hai…

1 Like

हैलो बठिंडा