How can you donate your organs after your death?

पहला स्टेप कम महत्वपूर्ण है:
अपनी मृत्यु के बाद यदि आप अपने शरीर, या शरीर के कोई भी अंग दान करना चाहते हैं, उसके लिए आपको अपने जीते जी एक एक सिम्पल फोरम भरना पड़ेगा। जो की आप अपने मोबाईल या पीसी पर इस govt साइट पर भर सकते हैं:
https://www.notto.gov.in/registration.htm

मैंने इस वेबसाईट पर 3 गलतियाँ/एरर पाईं:

  • यह वेबसाईट https पर विज़िट करने से एरर देता है, जिसको इक्सेप्शन में डालने से ही आप आगे बढ़ सकते हैं।
  • आप गूगल या फेस्बूक के बटन से रजिस्टर/लॉगिन नहीं कर सकते।
  • नई रेजिस्ट्रैशन करते वक़्त आप पासवर्ड में @ साइन use नहीं कर सकते। और इसके साथ ही कोई न कोई स्पेशल कैरिक्टर का यूस करना होगा, लेकिन वो कैरिक्टर (शायद) एक ही बार आए पासवर्ड में, अधिक बार नहीं।

यदि आपको खुद को कोई ऑर्गन चाहिए, तो भी आपको ऊपर दिए गए वेबसाईट पर ही अपनी जरूरत को रजिस्टर करना होगा।

यदि ऊपर दी गई govt साइट पर कोई एरर है तो इस नॉन-गवर्नमेंट साइट पर भी रजिस्टर कर सकते हैं:

यह स्टेप इम्पॉर्टन्ट है:
और इसके इलावा बाकी का काम आपके अपनों पर रह जाता है की वो आपकी मृत्यु उपरांत तुरुन्त लोकल सिवल अस्पताल या इस नंबर पर काल करके आपके अंग दान करने की इच्छा के बारे में बताएं।

वैसे पंजाब में ऑर्गन की मैन एजेंसी हैं: Pgimer Chandigarh, And nodes: GMC Jammu, GMC Patiala.

किसी भी दिक्कत के लिए इस टोल फ्री नंबर पर संपर्क किया जा सकता है: 1800-11-4770

#eyesdonation
#donateeyes
#donateyoureyes
#kedneys
#donation
#organ
#requirement

1 Like

हैलो बठिंडा