Paytm की ठगियाँ नॉर्मल लोगों के साथ

Paytm, the Cheater Company या दूसरी Online-Only apps क्यूँ use नहीं करनी चाहियें!!!

image

दोस्तों मैं पञ्जाबी बंदों को न राम-राम बोलूँ, न सत श्री अकाल। मैं राष्ट्रीय नमस्कार का पक्षधर हूँ। इसलिए सभी को मेरी सादर नमस्कार।
1889 में चार्ल्स एच डूअल ने कहा था की Everthing that can be invented has been invented!! जो भी आविष्कार किया जा सकता है, वो हो चुका है। कितना गलत था वो। ठीक उसी तरह जैसे की मैं पेटम का विश्वास करने में गलत था!
आज से कुछ वर्ष पहले रंधावा मोबाईल के मालिक ने मुझसे कहा था की Paytm (जैसे) एपस का विश्वास नहीं किया जा सकता। तब मैं उनसे सहमत नहीं था। वो इनके छिपे चार्जस का विश्वास तो करते ही नहीं थे, इनके छिपे चेहरों का भी यकीन नहीं था उनको। लेकिन, उसके बाद, इन 2-3 वर्षों में रंधावा साहब की बातें पूरी तजुर्बे वाली निकलीं।

आगे दी सारी बात जानकार आप यह मत समझना की यह आपके साथ नहीं हो सकता। मैं भी यही सोचता था। इसलिए 2-400 की खेल खेलते रह कर रिस्क तो लेते रह सकते हैं। जिस दिन आप विश्वास करके हजारों का विश्वास पेटम पर करने लग गए, समझो आपके भी वो दिन बस इंतजार कर रहे हैं, जो दिन मेरे जैसे दूसरे लोगों ने देखे हैं। बस वो यह सब अनलाइन करना नहीं जानते।

मेरी पहली माथा खपाई, 19 मिनट की, 29 जून, 2021 को

ये रिकॉर्डिंग सुन कर कुछ लोग यह कह सकते हैं की मैं जल्द ही हाइपर हो जाता हूँ। ऐसे लोगों के लिए मैं बता दूँ की हरेक व्यक्ति की काबलियत और हालात अलग अलग होते हैं। जो मेरे जैसे हालातों वाला बिजनेसमैन, जिसके पास इतने काम भरे रहते हैं की वो पानी पीने को भी काफी देर तक टालता रहता है, की जिस काम में लगा हूँ, वो निपटा लूँ, को ऐसे मीठे शब्द, जिनके बोलने वाले दिल में वो भाव न हों, न तो सुनने की बर्दाश्त शक्ति होती है, न ही टाइम। हम सब लोगों को पता है की काल सेंटर के फ्रन्ट एंड पर जो बिठाए गए होते हैं, वो सिर्फ इस बात की तनखा लेते हैं की लोगों को टाला कैसे जाए। यदि उनको यह कह दिया जाए की यदि आपको सच में खेद है, तो जीतने बार आप माफ़ी बोलेंगे, आप सिर्फ 5 रूपी एक माफ़ी के दे देना, तो वो 5 रूपी जितना भी कष्ट नहीं उठायेंगे। इसलिए उनकी झूठे मीठे-मीठे शब्द सुनने का मादा मेरा तो है नहीं, हो सकता है, आपके पास उनको सुनने का टाइम भी हो, और ऐसे झूठे शब्द सुन कर आप खुद को सांतावना भी दे पाते हों की चलो आपसे वो लोग माफ़ी तो माँग रहे हैं।

मैंने अपनी दुख भरी, ठगी की इस स्टोरी का विडिओ बना कर भी डाला है। यूट्यूब पर यहाँ मिल जाएगा।

सबसे पहले तो यह भी फेस्बूक की तरह आपको संपर्क करने का कोई तरीका नहीं देते। हालाँकि अपने वेबसाईट के थ्रु तो कोई एक आध लिंक छोड़ देती है, ताकि उनको msg भेजा जा सके। Paytm इतना घटीआ है की इनके नंबर पर इतने ivr ऑप्शन का जंगल मिलेगा आपको की आप किसी इग्ज़ेक्यटिव से बात नहीं कर पाएंगे। और इतने घटिया हैं की आप इनको ईमेल भी नहीं कर सकते सीधा। गूगल पर आपको इनका कोई ईमेल नहीं मिलेगा ढंग का। लास्ट तरीका है इनकी एप का, उसकी हेल्प एण्ड सपोर्ट में जाकर भी इतनी ऑप्शन मिलेंगी की आप घबरा जाओगे। इनसे संपर्क करने में ही आपके पसीने छूट जाएंगे।

और आज तो मैंने एक और बात नोट की। की जब मेरे केस में मेरी इनसे कुछ बात चलनी शुरू हुई (कितनी मुश्किल से हुई, वो मैं आपको आगे बताने वाला हूँ), तो जो इनकी मेल आती थी, उसमें सिर्फ 1 लाइन लिख कर यह केस बंद करने को पड़ते थे, की मेरा फोन unreachable था, और उसकी बजह से इन्होंने केस बंद कर दिया। हैरान तो मैं तब हुआ, जब मैंने गुस्से में उस मेल का जबाब लिखा की मेरा फोन तो ऑन था, और यदि एक बार नहीं भी मिला तो कौन सा पहाड़ टूट पड़ा। मैं आपको पता नहीं कितनी बार फोन कर चुका हूँ। तो मैंने पाया की यह उस मेल का जबाब तक नहीं एक्सेप्ट कर रहे थे। यानि मैं उस मेल का रिप्लाइ भी इनको नहीं भेज सकता था। जब मैंने ध्यान से पढ़ तो पाया की नीचे लिखा था की यदि मैं कुछ कहना चाहता हूँ तो सारा केस फिर से शुरू करूँ, पहले दिन की तरह!! यानि यह लोग जब मर्जी आपकी 15 दिन की मेहनत यह कह कर खत्म कर सकते हैं की हमारा फोन नहीं मिला इनको!!!

मेरी दूसरी माथा खपाई, 3 मिनट से अधिक, 1 जुलाई, 2021 को

मैंने 1 वर्ष पहले आप लोगों को बताया था की कैसे पेटम ने किसी मित्र के 2100 रूपी कितने महीने के लिए रोक लिए थे।
और कैसे मैंने अपने ऊपर गलती से लगाए गए 600 रूपी पकड़ लिए थे। और जब मैं उनको सब प्रूफ देने में कामयाब हो गया था, तो कैसे उन्होंने जल्दी से वो रीवर्ट कर दिए थे।

मेरी 7 मिनट की तीसरी माथा खपाई, 2 जुलाई, 2021 को

इसके बाद मैंने काफी महीने पेटम use नहीं किया। लेकिन अब साइकिल की दुकान करने के बाद मैंने फोन पे/PhonePe (यानी वॉलेट वाली एपस) use करनी शुरू कर दीं

ध्यान दें की भीम/Bheem app या गूगल पे/Google Pay एपस अलग तरह से काम करतीं हैं। उनके वॉलेट नहीं होते, इसलिए उनमें कभी पैसे नहीं फँसते और न ही उनके कभी कोई भी चार्ज होते हैं। आप जब भी किसी को पैसे भेजेंगे, या तो वो आपके पास रहेंगे, या फिर टारगेट के पास पहुँच जाएंगे। बीच में नहीं फँसेंगे)।

मेरी 6 मिनट की चौथी माथा खपाई, 3 जुलाई, 2021 को

और कुछ दिन use करने के बाद, एक दिन paytm की नोटफकैशन आई, की यदि आप अपने बिजनस के डाक्यमेन्ट आदि अपलोड कर देंगे तो आपकी लिमिट बढ़ जाएगी या कुछ और फ़ायदे हो जाएंगे। तो कोई भी बंदा/बिजनस यही सोचेगा की जो चल रहा है, वो तो चलता ही रहेगा, कुछ और भी फ़ायदा मिल जाएगा। यह तो नहीं हो सकता की डाक्यमेन्ट अस्वीकार्य होने पर जो पज़िशन पहले डाक्यमेन्ट के बिना थी, उससे भी नीचे चली जाएगी। तो मैंने डाक्यमेन्ट अपलोड कर दिए।

लेकिन जैसे ही 2 दिन में करीब 24 हजार के करीब paytm में पेमेंट आई, उन्होंने मेरा बिजनस अकाउंट सस्पेन्ड कर दिया। naturally, मैंने एप के अंदर सपोर्ट की ऑप्शन पर क्लिक किया तो पाया की हजारों हेल्प ऑप्शन में, कोई ऐसी ऑप्शन नहीं थी, जिसमें मैं उनको कुछ कह पाता। जब भी मैं कोई ऑप्शन पर क्लिक करता तो पाता की आगे चल कर या तो वो कोई ट्रैनिंग विडिओ देखने के लिए दे देते, या फिर पढ़ने के लिए कोई हेल्प आर्टिकल। यानि कम्प्लैन्ट टिकट जेनरैट करने तक की ऑप्शन नहीं मिली। काल पर बात करना तो बहुत दूर।

5 जुलाई को 12 मिनट की पाँचवीं माथा खपाई

नेक्स्ट मैंने थोड़ी घबराहट में, क्यूंकी कस्टमर को साइकिल तो डिलिवर हो चुके थे, और वो भी दूर गाँव के लिए, गूगल पर उनके नंबर या ईमेल आइडी तलाशनी चाही। एंड में मैंने नोएडा/गाजियाबाद के एक नंबर पर काल करने में कामयाब हो गया। तो आप यकीन नहीं करेंगे की हरेक ऑप्शन के अंदर आगे जाकर इतनी ऑप्शन की कोई माई का लाल यह डिसाइड नहीं कर सकता की उसके लिए कौन सी ऑप्शन सही है। अब क्यूंकी नॉर्मली हम देखते हैं की किसी ऑप्शन में यह भी सुनता है की यदि आप कस्टमर केयर से बात करना चाहते हैं तो 9 दबाईए, या ज़ीरो, या फिर स्टार। लेकिन पेटम के किसी भी नंबर पर ऐसा कभी नहीं सुनने को मिलता। केवल बेकार की बकवास, और बकवास, और फिर उसके बाद और बकवास। यूँ लगा लीजिए, की जितनी paytm एप में ऑप्शन हैं, वो सभी ऑप्शन अलग अलग ivr में सुनने को मिलतीं हैं। यानी किसी ऑप्शन में जाएँ तो आपका बैलन्स बताएंगे, किसी ऑप्शन में आपकी लास्ट 5 ट्रैन्सैक्शन। किसी और में पेटम माल के प्रोडक्टस की जानकारी, किसी और पेटम बैंक की जानकारी। किसी में कुछ, किसी में कुछ, लेकिन जो पैसों की समस्या आपको आ रही है, उसके बारे में कुछ नहीं।

7 जुलाई को 31 मिनट की मेरी छठी माथा खापाई। आप खुद सोच लीजिए की हर बार कितनी मुश्किल से काल लगाता था और फिर कितना टाइम वैस्ट कर कर के वही बातें सुनना कितना मुश्किल है।

उद्धरण के लिए, मैंने जो पैसे रीसीव किए थे, वो सेटल नहीं हुए थे। लेकिन ivr में वो बार बार बोल रहे थे की आपके पास कोई पैसे नहीं हैं सेटल होने के लिए, और उस ऑप्शन से आगे ही नहीं बढ़ रहे थे। खैर, कम से कम कई घण्टे अपने टाइम के खराब करने के बाद एक दिन मैं ऐसी ऑप्शन पर पहुँचने में कामयाब हो गया की उनके इग्ज़ेक्यटिव से बात हो गई।

10 जुलाई सुबह को मेरी पहली कोशिश को उन्होंने काट दिया।

अब यह अलग एक किस्सा ही है। पहले तो वो कितना ही टाइम बेबजह माफ़ी माँगने में वैस्ट करते हैं। अब उनको तो बात करने की तनखा मिल रही होती है, लेकिन इस एंड पर हम खीज रहे होते हैं की इनकी माफ़ी का मतलब क्या? जबकी हम अच्छी तरह से जानते हैं की माफ़ी वो केवल दिखावा कर रहे हैं। उनकी बार बार ‘क्षमा चाहता हूँ जी’ का कोई मतलब नहीं। मजा तो तब है जब इस माफ़ी की जगह वो 5 रूपी हमारे अकाउंट में क्रेडिट कर दें, जितनी बार भी वो उस काल के दोरान क्षमा माँगे, उनको 5 रूपी का नुकसान हो और हमें वो 5 रूपी मिल जाएँ। खाली माफ़ी तो केवल टाइम वैस्ट है। वो भी बार बार। आदमी को जैसे खिजाने के लिए।

उसके इलावा उनके पास 2 और सेन्टन्स होते हैं, ‘क्या मैं आपकी काल को होल्ड पर रख सकता हूँ?’ अब इस प्रश्न का भी कोई मीनिंग नहीं। क्यूंकी हम इसका जो भी जबाब दें, वो काल को होल्ड पर रखेंगे ही रखेंगे। और कोई रास्ता ही नहीं है। तो फिर वो हमसे पर्मिशन माँग कर टाइम क्यूँ खराब करते हैं?

और तीसरा, उनका जबाब होता है की हम यह मैटर अपनी दूसरी/इन्टर्नल टीम को देंगे, वो इसका जबाब इतने वर्किंग डे में देंगे। अब ये बड़ी हैरानी की बात है, यह ठीक ऐसा ही है जैसे की किसी एटीएम में हमारे पैसे निकले बिना पैसे कट जाएँ, और हम बैंक ब्रांच में जाना चाहें, ताकि किसी ऐसे जिम्मेवार बंदे से मिल सकें, जिसको इसके बारे में सब पता हो, लेकिन बैंक के बाहर का गार्ड कहे की वो यह मामले अपनी अंदर की टीम को दे देगा, और वो टीम अपने आप हमसे संपर्क करेगी। जबकी हमें अपने पैसों की घबराहट हो रही हो। और यह भी कोई गारंटी न हो की यदि उन्होंने कोई संपर्क न किया तो भी हम कुश नहीं कर सकते। ज्यादा ऊँचा बोलेंगे, तो फोन काट देंगे। हम कुछ भी नहीं कर सकते, सिवाय उस गार्ड की मिन्नतें निकालने के।

10 जुलाई को मेरी दूसरी कोशिश भी सफल नहीं हुई

तो दोस्तों, यह मेरे साथ सब हो चुका है। लास्ट हुई घटना में अभी तक मेरे पैसे नहीं आए, और जब भी आधा घंटा लगा कर मैं ऐसी कोई ऑप्शन ढूँढने में कामयाब हो जाता हूँ की उनके इग्ज़ेक्यटिव से बात हो सके, और वो मुझे 2 दिन के बाद वैट करके काल करने को बोलता है। तो मैं उसको पूछता हूँ की भाई, मुझे यह तो बता दे की मैं कौन कौन सी ऑप्शन दबा कर सीधे इग्ज़ेक्यटिव से बात कर सकता हूँ, ताकि मेरा टाइम बच जाए। तो उसका यही जबाब होता है की वो नहीं बता सकता। जैसे मैंने आज किया है, उसी ढंग से दोबारा करना पड़ेगा।

मेरे पास आज की डेट में इन सब बातों की रिकॉर्डिंग है। मेरे पैसे अभी तक नहीं आए। और रोज या एक दिन छोड़ कर मैं सुबह सुबह उनका नंबर मिलाने की चेष्टा शुरू कर देता हूँ, और उम्मीद करता हूँ की कोई दिन आएगा की वो मेरे पैसे दे देंगे, और जो डाक्यमेन्ट मैं भेज बैठा, उनको फाड़ कर वो मेरा अकाउंट पहले जैसा कर देंगे।

बस। यह किस्सा आपको सुनाना चाहता था। हालाँकि मुझे पता है की जब तक मेरे खुद के साथ कुछ bad इक्स्पीरीअन्स न हो, मेरे से रुका नही जाता। दोस्तों, मैं एक कंप्युटर इंजीनियर और ट्रैनर अपने तजुर्बे से आप लोगों को यह रीक्वेस्ट करता हूँ की जब बात आपके पैसों की हो, तो कोई ऐसी एप या सिस्टम आसानी से, या जल्दी से, use मत करें, जिसके रीस्पान्सबल बंदों को आप अपने शहर में मिल नहीं सकते। जिनकी आपके शहर में कोई ब्रांच नहीं है। क्यूंकि जब आपके पैसे किसी हिसाब से फँसेंगे, तो आप इतने बेचैन हो जाएंगे की आपको कुछ नहीं सूझेगा। लेकिन मैं खुद भुगत भोगी हूँ की मैं आईटी और कंप्युटर की लाइन का एक्सपर्ट बंदा होने के बाबजऊद भी उन्होंने मेरे घुटने लगवा दिए।
They won’t listen to you, just keep apologizing, keep you waiting, keep trying to confuse you, so that in the end, you’re nothing but forced to hang up the phone and keep waiting for anything positive to happen. Which may or may not happen. Below I’ve given a few of the links to my recorded chats with Paytm people in Hindi, and you just assume what will happen to you if your 24000 were struck like this and nothing was coming out in any way. And this is, when I’m an expert of such matters!

बाय।
नोट: मेरी उनसे हुई बातों के सभी लिंक इस पोस्ट में दे रखे हैं। लेकिन अभी मेरे पैसे वहीं के वहीं हैं। कुछ नहीं मिला। इसलिए बात आगे भी जारी रखनी पड़ेगी, ऐसे कुत्तों से।

उसके बाद, आज, 10 जुलाई 2021 को ही मेरी 17 मिनट की यह 9वी बातचीत सुनिए। पहले तो वो मुझे डिस्करिज करने के लिए हमेशा यहाँ से शुरू करते हैं की मेरा मर्चन्ट अकाउंट ही नहीं है अब उनके पास। फिर की कैसे वो जान बूझ कर अनजान इग्ज़ेक्यटिव को वहाँ पर बिठाते हैं। और वो बार बार वही बात करके मुझे गालियाँ निकालने पर मजबूर करती जाती है।

आज, 11 जुलाई को उधर से काल आई।
सैम वही बकवास। की उनके पास ज्यादा जानकारी नहीं है, और वो अपनी दूसरी टीम को भेज रहे हैं, वो ही मुझे बताएंगे।

मुझे इतना गुस्सा आया। कोई भी बिजी बिजनस मैन को यूँ ही गुस्सा आता, की जब आपको नया कुछ मालूम ही नहीं है, तो आप काल क्यूँ करते हैं?

11 मिनट फिर से वैस्ट। एंड के 30 सेकंड मैंने फिर से गालियाँ निकालीं, पर उन कु*** को कोई फरक नहीं पड़ता। वो फोन काट कर पक्का हँसते होंगे।

11 जुलाई को मेरी 11 मिनट से ऊपर की 10वी बातचीत

1 Like

Now finally, I’ve written to Paytm Ombudsman, as told in this article. Lets see what happens:
https://www.paytmbank.com/Policies/Customer-Grievance-Redressal-Policy-for-Paytm-Payments-Bank.html
On the other hand, I’m contacting @pehredar team #cnbcawaz channel, as suggested by the group member Loveleesh ji.

हैलो बठिंडा