मजदूर बंदे का गुनाह .... उसकी गरीबी।

माइग्रन्ट labourers की बेचारों की क्या हालत है, वो आपको दिखाना चाहेंगे।

यह विडिओ बठिंडा हेल्पर ग्रुप के एक मेम्बर ने परसों, 13 मई, 2020 को बठिंडा और कोट-शमीर के बीच अपना स्कूटर रोक कर शूट करके भेजा है। उनका शुक्रिया। जिसके दिल में थोड़ी सी भी दया होती है, वो इग्नोर नहीं कर सकता है।
https://youtu.be/r-yidvOqy14

1 Like

ऐसी ही एक पोस्ट फेस्बूक पर भी मजदूरों की रेल्वे स्टेशन पर जो हालात हैं, इन्हीं तारीकों को (13 से 15 मई के बीच):

https://www.facebook.com/dhinav/videos/10163445756485507

हैलो बठिंडा