जॉब्स डिस्कशन। काम के बारे में। Whose fault is this???

Every Chankaya has a bit of Chandargupt Maurya in him, as every Maurya has a bit of Chankaya in him. You are more like a Chankaya, or Maurya, is known to you only.

नमस्कार दोस्तों, मैं बॉबी जोफ़न, बठिंडा हेल्पर ग्रुप का founding ऐड्मिन। मोबाईल नंबर 94 7878 4000

सारी दुनिया जॉब की तलाश कर रही है। लेकिन वो काम की तलाश क्यूँ नहीं कर रहे? और यदि काम की तलाश कर रहे हैं, तो उनको काम मिलता क्यूँ नहीं है? कभी सोचा है आपने? मैं इसके पीछे के कारण को डिस्कस करना चाहूँगा।

मैं इसकी सबसे मुख्य बजह यह मानता हूँ की लगभग हरेक बंदा एक असिस्टन्ट के काम की तलाश में है। यानी उसको बाजार का कोई काम कह दो। कंप्युटर पर ईमेल चेक कर ले। या ज्यादा से ज्यादा कोई लेटर टाइप कर ले। या ऑफिस/शॉप पर कोई चीज कहीं रख दी, कहीं से उठा ली। बस!!! इतनी ही सोच है उन लोगों की जो मेरे पास काम की तलाश में आते हैं।
आज के वक्त में, ऐसे काम की कितनी क आपर्टूनिटी हो सकतीं हैं? कितने क बंदों को बाजार जाने वाले किसी असिस्टन्ट की जरूरत हो सकती है? बैंकिंग के सारे काम तो टेबल पर बैठे बैठे ही होने लग गए।
और ऐसे कामों की कितनी क सैलरी हो सकती है? कभी सोचा है आपने? की क्यूँ आप 15000 या 30000 रूपीस सैलरी के काबिल खुद को नहीं सोच सकते?

क्यूँकी उसके लिए आप में कुछ गुण होना जरूरी है। जो की आपने खुद में कभी भी पैदा नहीं किया।
जब आपके माँ बाप कहते थे की बेटा कुछ सीख ले, चाहे कुछ भी सीख ले, तब आपने वो टाइम घूम फिर कर खत्म कर दिया। लेकिन अब आपको पैसों की इतनी सख्त जरूरत है की आप कुछ भी सीखने के लिए न तो टाइम उपलव्ध पाते हैं, न ही पैसे। यह एक बहुत बड़ी समस्या है।

तो फिर इसका हल क्या है?
इसके 2 हल हैं।

  • या तो आप किसी ऐसे कामयाब बंदे के पास काम करने लग जाएँ, जहाँ पर आपको कुछ पैसे मिलने के साथ साथ आपमें कोई न कोई हुनर भी डिवेलप हो। जैसे किसी कार मिकैनिक के पास। किसी ca या वकील के पास। किसी कंप्युटर डेवलपर के पास। किसी आर्टिस्ट के पास। जिस भी तरह का आपका झुकाव हो, उस ट्रैड के बंदे के पास। हालांकि वो पैसे कम देगा, लेकिन 1 वर्ष बाद आप उस पैसे से दोगुने पैसे पाने के हकदार होंगे। और उसके बाद तईगुने।

  • दूसरा हल है तब है, यदि आप पैसे भी कम में गुज़ारा नहीं कर सकते। आपको तुरुन्त पैसों की हर हाल में जरूरत है। उस हालत में आपको प्रोडक्ट बेचने होंगे। किसी भी बंदे के प्रोडक्ट। तो आपको कामयाब होने से कोई नहीं रोक सकता। आपको मार्केट में निकलना होगा। और 1 वर्ष बाद आप बहुत आगे होंगे, ऐसा मेरा वायदा है।
    There are many people and many companies in Bathinda itself, who wan’t to sell their products. And who want to pay on commission basis, not because they don’t have faith in their product, but because they don’t have faith on you people. 99% of the unemployed are work shirkers. Pay them any salary, and they won’t do even 25% of their salary by doing honest work for the employer.
    So, if you’ve not learnt any skill. And you can’t even learn something by getting a paid a small salary now, then you’ve to sell something. Get out on the streets, bump into people and get paid handsomely. Otherwise, just curse central government for your woes.

यदि यह दोनों काम आप नहीं कर सकते, और हुनर आप में कोई है नहीं। तो फिर लगे रहिए किसी मामूली असिस्टन्ट की जॉब की तलाश में। पहले तो आपको काम मिलेगा नहीं आज की डेट में, और यदि मिल भी गया तो अपनी ज़िंदगी उसी लेवल पर रखेंगे आप सारी उम्र।

But if you do want to get out in the market and are ready to hard work by selling something, then you can drop me a msg, give me your basic intro and join into our telephone group and post your requirements and abilities there, and you’ll get some work. That’s almost a promise.

Thank you and good wishes and bye bye.
Bobby

2 Likes

मेने एक दिन एक खबर पडी के एक ब्यक्ति आटा पीसता था तो उसका बिजली का बिल उसको बहुत ज्यादा लगता था. एक दिन उसने देखा कि उसका लड़का जीम मे कसरत करने जाता है, तो उसने भी जीम मे जाकर देखा तो उसको लगा कि लोग इतनी उर्जा बर्बाद कर रहे हैं, जिसका वो बिजली के रूप में पेसा देता है. उसने घर आकर दिमाग लगाया और कुछ एसी मशीने बनवा ली जिनसे कसरत के साथ अटा भी पीस रहा था. तो उसका खर्च कम हो गया और आमदनी बढ़ गई.
तो अगर कोई काम करना चाहता है तो उन्हें यही सोचना होगा कि वो लोगों को केसे फायदा पहुंचा सकते हैं और उसमें आपनी कमाई भी कर सकते हैं.

1 Like

Sanjeev Singla ji, आप प्लीज अपनी प्रोफाइल फोटो लगाएं।

हैलो बठिंडा